बहन ने लंड में तबाही मचा दी


हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम विभोर है और मेरी उम्र 21 साल है. में दिखने में बिल्कुल ठीक ठाक हूँ. दोस्तों आज में आप सभी को अपनी एक सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ जो मेरे जीवन का पहला सेक्स अनुभव है और जिसमें मैंने अपनी बहन को चोदा. दोस्तों में उस समय में गावं में अपने दादा दादी के साथ रहा करता था, क्योंकि मेरे माता पिता उस समय बाहर विदेश में रहते थे.

दोस्तों जैसा कि आप सभी को पता है कि शहर में बहुत सारे रिश्तेदार होते है और ऐसे ही मेरे एक दूर के रिश्ते से ताऊजी थे, उनकी एक बेटी और बेटा था, उस बेटी का नाम दीपा जो कि मुझसे उम्र में थोड़ी बड़ी थी और लड़का राहुल जो मेरी ही उम्र का था और अब राहुल भी बाहर विदेश में अपनी पढ़ाई कर रहा है और पिछले कुछ सालों से वहीं पर रहने लगा था. में उस समय अपनी कॉलेज की पढ़ाई के लिए शहर पढ़ने गया हुआ था.

दोस्तों असली कहानी यहाँ से शुरू होती है और जब में शहर में अपनी पढ़ाई पूरी करने आया तो अपने सभी रिश्तेदार से मिला और तब मैंने दीपा को वहां पर देखा तो में बिल्कुल चकित रह गया. उसके बूब्स बहुत बाहर आ चुके थे और बहुत मोटे मोटे दिखाई दे रहे थे. में तो उसे देखता ही रह गया, शायद उसने भी इस बात पर गौर कर लिया था. वो बोली कि तेरा ध्यान कहाँ है? तो मैंने कहा कि कहीं नहीं और ऐसे ही बहुत दिन गुज़र गये और फिर एक दिन में अपने पास के शहर से अपनी कार में वापस घर आ रहा था तो अचानक मुझे रोड पर दीपा और उसकी माँ और उसकी दो पड़ोसने दिखाई दी.

फिर मैंने अपनी गाड़ी रोककर उनसे पूछा कि क्यों घर जाना है तो वो बोली कि हाँ भगवान का शुक्र है कि तुम मिल गये वर्ना हम पैदल ही घर जाते, क्योंकि इस जगह से हमें कोई साधन भी नहीं मिलता और फिर दीपा फटाफट से पिछली सीट पर बैठ गई. तभी उसकी माँ बोली कि दीपा तू आगे बैठ जा हम तीनों पीछे बैठते है और में पीछे की तरफ मुहं करके देखने लगा. वो अंदर से ही आगे वाली सीट पर आने लगी तो उसका एक बूब्स कपड़ो से बाहर आकर मेरे मुहं पर लगा और उसने उस समय काले कलर का सूट पहना हुआ था जो कि बहुत टाईट था और जब उसने आगे आने को अपनी एक टाँग फैलाई तो मुझे उसके पैरों के बीच में बहुत सारा पसीना आया हुआ दिखाई दिया, वो बिल्कुल गीली थी और फिर में झट से समझ गया था कि उसने उस समय पेंटी नहीं पहनी हुई थी.

फिर वो आगे आकर बैठ गई और उसकी माँ और वो दोनों औरतें बातों में एकदम मस्त थी और में उसके साथ बातें कर रहा था और बार बार उसके बूब्स को देख रहा था. तभी वो मुझसे मुस्कुराती हुई बोली कि लगता है कि तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है? तो मैंने कहा कि हाँ नहीं है और फिर वो बोली कि हाँ तभी तो हमेशा इतने परेशान रहते हो. दोस्तों मुझे कुछ भी समझ में नहीं आया कि उसने मुझसे क्या यह सब क्यों कहा? और जब वो गाड़ी से उतरकर जाने लगी तो उसकी मटकती हुई गांड को देखकर मुझे बहुत जोश चड़ गया और मैंने घर पर पहुँचते ही बाथरूम में जाकर मुठ मारने लगा और फिर मैंने दो बार लगातार मुठ मारी और सो गया.

कुछ दिन ऐसे ही बीतते चले गये. फिर कुछ दिन के बाद मेरे ताऊ जी के घर पार्टी थी और उस समय मेरे दादा दादी जी भी उस समारोह में शामिल होने के लिए घर पर आ गये और में उनके साथ घर पर चला गया. जब में अपने ताऊ जी के रूम में पहुँचा तो मैंने देखा कि वहां पर दीपा तैयार हो रही थी. तभी वो डरकर अचानक से मेरी तरफ मुड़ी और बोली कि क्या यार विभु तुम हो? तो मैंने कहा कि हाँ में हूँ अगर तुम्हे कोई काम हो तो बताओ में करवा दूँगा. तो वो बोली कि हाँ सबसे पहले तुम यह मेरे ब्लाउज का हुक लगा दो, ये थोड़ा टाईट है. फिर दोस्तों जब में हुक लगाने लगा तो मुझे पता चला कि वो थोड़ा नहीं बहुत ज़्यादा टाईट था.

फिर में उससे बोला कि तुम भी मेरी हेल्प करो यह ब्लाउज सच में बहुत टाईट है और फिर उसने अपने बूब्स मेरे सामने ब्लाउज में एक हाथ डालकर सेट करते हुए ब्लाउज को थोड़ा सरकाया जिसे देखकर मेरा तो लंड पेंट को फाड़कर बाहर आने को था और यह सब उसने तैयार होते हुए देख लिया था और फिर हम पार्टी में डांस करने लगे तो उसने मेरा हाथ पकड़कर मेरे साथ डांस किया और सबके सामने यह प्रदर्शित किया कि हम भाई बहन है, लेकिन दोस्तों मुझे उसका तो पता नहीं, लेकिन मेरे दिल में बहुत कुछ था और फिर उस दिन से हम दोनों फोन पर चेटिंग करने लगे थे, लेकिन ऐसे कि जैसे हम एक दूसरे के कोई दोस्त है.

फिर आख़िरकार वो दिन आ ही गया जब मुझे उसकी चूत के दर्शन करने का मौका मिल गया, क्योंकि उस दिन उसके मम्मी पापा और मेरे घर वाले पास वाले शहर में किसी के घर पर जागरण में चले गये और दीपा को मेरे साथ मेरे घर पर छोड़ गये. मेरे दिल में तो अब लड्डू फूटने लगे, तब सर्दियों के दिन थे और में सोफे पर बैठकर टीवी पर क्रिकेट मैच देख रहा था. तभी कुछ देर के बाद अचानक लाईट चली गई और उस समय मैच बहुत मजेदार चल रहा था तो मुझसे रहा नहीं गया और मेंने अपने लॅपटॉप पर मैच लगा लिया. वो मेरे पास आकर खड़ी हो गई और फिर वो भी मैच देखने लगी और जब कुछ देर बाद मैंने उसकी तरफ देखा तो में कंट्रोल से बाहर हो गया.

उसने नीले कलर की बिल्कुल टाईट टी-शर्ट और लोवर पहना हुआ था. वो उसमें क्या मस्त लग रही थी मेरा तो दिल कर रहा था कि उसके बूब्स को पकड़कर चूसकर सारा का सारा दूध पी लूँ और उन्हे नीबूं की तरह निचोड़ डालूं. तभी वो मुस्कुराते हुए मुझसे बोली कि मैच देख लो और अपना ध्यान मैच पर रखो मुझ पर नहीं. वो उस समय इतना कहते हुए थोड़ा मेरे पास बैठ गई और भी करीब आने लगी और फिर वो मुझसे बोली कि विभु मुझे यहाँ पर ठंड लग रही है, तुम अपना यह लेपटॉप बेड पर रख लो.

फिर में उसके कहने से बेड पर आ गया और में अपने दोनों पैरों को कम्बल के अंदर करके बैठ गया. वो मेरे एक साईड में बैठी हुई थी और थोड़ी दूरी पर थी जिसकी वजह से उसे लॅपटॉप सही ढंग से नहीं दिख रहा था. वो मुझसे बोली कि लेपटॉप को थोड़ा इधर कर लो और मैंने वैसा ही किया. में अब उसकी साईड में और उसके बिल्कुल पास बैठ गया और कंबल में पूरा घुसा हुआ था, लेकिन अब मेरा पूरा ध्यान मैच से बिल्कुल हट चुका था और में धीरे धीरे अपने एक पैर से उसके पैर को रगड़ने लगा और मैंने एक पैर उसके पैर पर रख दिया, लेकिन उसने कोई विरोध नहीं किया में समझ गया था कि उसे भी अब इस सर्दी में गरमाहट चाहिए और फिर मैंने अपना एक हाथ भी कंबल में घुसा दिया और एक साईड से उसकी हल्के से गांड को छूने लगा, लेकिन वो फिर भी मुझसे कुछ भी नहीं बोली और इतनी देर में मैच ख़त्म हो गया, लेकिन उसका ध्यान कहीं और था. तो कुछ देर के बाद वो बोली कि तुम्हारी गर्लफ्रेंड का क्या नाम है? में अब लगातार धीरे धीरे उसकी गांड पर हाथ फेरता रहा और उससे बोला कि कोई है ही नहीं.

वो झट से बोली कि ऐसा हो ही नहीं सकता और ऐसे ही हम गर्लफ्रेंड के बारे में बातें करते रहे. तभी मैंने धीरे धीरे अपने हाथ की जगह चेंज कर दी और अपने हाथ को उसके लोवर के ऊपर से ही उसकी चूत के पास ले गया. वो मुझसे बोली कि विभु यह क्या कर रहे हो? क्या तुम्हे शर्म नहीं आती, में तुम्हारी बहन हूँ? तो में बोला कि मैंने ऐसा क्या किया है? तो वो बोली कि अब तुम ज़्यादा चालाक मत बनो, तुम्हारा हाथ कहाँ पर है? तो मैंने कहा कि मेरा हाथ यहीं पर है और मैंने अपना हाथ थोड़ा और टाईट कर लिया. तभी वो मेरा हाथ पकड़कर छुड़ाने लगी और बोली कि यह है तुम्हारा हाथ. तो में बोला कि तो क्या हुआ? तुम मेरी बहन हो इसलिए हम दोनों एक दूसरे की बातें तो जान सकते है. वो बोली कि यह बात बिल्कुल गलत है. भाई बहन में कभी भी ऐसा नहीं होता. में उसे अब मनाने लगा, लेकिन वो नहीं मान रही थी तो मैंने उससे कहा कि चलो अगर तुम मुझे अपना अच्छा भाई मानती तो प्लीज मुझे एक बार अपना शरीर दिखा दो.

वो लगातार ना ना कर रही थी तो मैंने उसे अपनी कसम देकर एक बार दिखाने को बोला तो वो मान गई और मुझसे बोली कि में सिर्फ़ एक बार ही तुम्हे दिखाउंगी और फिर वो अपनी टी-शर्ट के ऊपर के बटन खोलने लगी. तभी मैंने उसे रोक दिया और वो अचानक से रुक गई और मेरी तरफ देखने लगी. मैंने उससे कहा कि तुम रहने दो में खुद ही खोल लूँगा और फिर मैंने धीरे धीरे बटन खोलकर उसके ऊपर का हिस्सा उतार दिया. वो गुलाबी कलर की ब्रा में थी और उस पर फूलों की डिजाईन बनी हुई थी. में उससे बोला कि मुझसे अच्छे तो यह फूल ही है, कम से कम तुम्हारी ब्रा से तो चिपके हुए है. तो वो हँसने लगी और मैंने सही मौका देखकर उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही पकड़ लिया. तो वो बोली कि मैंने सिर्फ़ देखने को कहा था छूने को नहीं. तो मैंने कहा कि प्लीज मुझे छूने दो, पक्का में सेक्स नहीं करूंगा और फिर मैंने उसे विश्वास दिलाया कि सेक्स नहीं करूंगा.

तो वो मान गई में फिर उसके लोवर की तरफ बढ़ा तो वो मुझसे बोली कि क्या इसको उतारना ज़रूरी है? तो मैंने कहा कि असली चीज़ तो यहीं पर है प्लीज उतारने दो और फिर झट से मैंने उसकी लोवर को उतार दिया उसने लाल कलर की पेंटी पहन रखी थी और अब वो ब्रा और पेंटी में क्या मस्त लग रही थी. ऐसे ही करते करते मैंने उसके एक कंधे से उसकी ब्रा को नीचे कर दिया और उसका एकदम सफेद बूब्स आधे से ज्यादा बाहर आ गया और उसने मुझे पकड़ लिया. मैंने उसके एक बूब्स को एक हाथ में लिया और दूसरा हाथ उसकी पेंटी में डाल दिया और उसकी चूत को पहली बार छूकर देखा. मेरे छूते ही वो बिल्कुल पागल हो गयी और उसने एकदम से पलटकर मुझे बिल्कुल टाईट पकड़ लिया और मुझे लिप किस करने लगी और सिसकियाँ लेने लगी.

मुझे पता चल चुका था कि अब सब कुछ मेरे हाथ में या मेरे लंड में है. में उसकी चूत को पेंटी के अंदर ही बार बार छू रहा था और धीरे धीरे सहला रहा था. फिर में उसकी चूत के सामने आ गया और मैंने उसकी पेंटी को उतार दिया. दोस्तों वाह क्या जन्नत की तरह थी वो जगह उसकी चूत बिल्कुल साफ थी. मैंने उसे अपनी बाहों में लेकर लेटा दिया और उसकी चूत को छूने लगा. तो वो मुझसे कहने लगी कि प्लीज अब ऐसा मत करो मुझे बहुत अजीब सा महसूस हो रहा है.

दोस्तों अब मुझसे बिल्कुल भी रहा नहीं गया और मैंने उसकी चूत के ऊपर मुहं रख दिया और उसे किस करने लगा इस वजह से वो बहुत ज़ोर से मचलने लगी जैसे बिन पानी के मछली तड़पती है वैसे ही तड़पने लगी और वो मेरा सर अपनी चूत पर दबा रही थी. मैंने उसके दोनों पैरों को फैला दिया और उसकी बैचेन चूत में अपनी जीभ को डाल दिया. वाह दोस्तों क्या मस्त अहसास था, पहली बार मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे मैंने ऐसी रसीली और मजेदार चीज़ कभी खाई ही नहीं. फिर कुछ देर ऐसे ही करते करते वो झड़ गई और उसकी चूत का पानी मेरी जीभ को लग गया वो बहुत अजीब से स्वाद का था, मैंने उसे थूक दिया.

वो मुस्कराते हुए बड़ी संतुष्ट लगी, लेकिन में अभी भी ठंडा नहीं हुआ था और में हल्का सा उसके ऊपर आकर अपना लंड उसके दोनों बूब्स के बीच में दबा लिया और रगड़ने लगा. जब में लंड को आगे की तरफ ले जाता तो वो अपना मुहं खोलकर उसे अंदर ले लेती. फिर दीपा ने बोला कि में और अब नहीं रह सकती, प्लीज़ इसे नीचे डालो, मुझे बहुत अजीब सा कुछ कुछ हो रहा है. फिर मैंने भी अपने लंड को हाथ में ले लिया और दीपा की चूत के मुहं पर रगड़ने लगा. वो अब झटपटाने लगी और मुझसे लंड को अंदर डालने की भीख माँगने लगी.

मैंने फिर से हल्का सा ज़ोर देकर अपने लंड का सुपाड़ा उसकी चूत के अंदर डाला तो उसकी एक बार आखें फट गयी. में थोड़ी सी देर बिल्कुल शांत हो गया और फिर दूसरे ही झटके में लंड को अंदर की तरफ पहुंचा दिया. उसके मुहं से बहुत ज़ोर से चीख निकल पड़ी और आँखो से आँसू. में फिर से थोड़ा नीचे की तरफ होकर उसके होंठो को चूसने लगा और उसके बूब्स को दबाने लगा और फिर मैंने सही मौका देखकर एक बार फिर से धक्का मार दिया और अब लंड बहुत अंदर जा चुका था और वो बार बार मुझसे से उसे बाहर निकालने के लिए कह रही थी, लेकिन में अब वहां से वापस नहीं लौट सकता था इसलिए मैंने थोड़ा सा रुककर मैंने फिर से एक आखरी झटके में अपना लंड जड़ तक दीपा की चूत में डाल दिया और वो दर्द से झटपटाने लगी और में फिर से नीचे झुककर उसको स्मूच करने लगा और बूब्स को दबाने लगा.


फिर थोड़ी देर बाद उसको भी दर्द खत्म होने के बाद जोश आ गया और धीरे धीरे से अपने कूल्हों को हिलाने लगी और में समझ गया कि अब शायद उसे भी मज़ा आने लगा है और फिर में भी हल्के हल्के झटके लगाने लगा. फिर वो कभी मुस्कुराती तो कभी एक रांड की तरह लंड का मज़ा लेते हुए स्माईल देती और अब मेरे भी धक्कों की स्पीड और भी तेज हो चुकी थी और मेरा लंड पिस्टन की तरह अंदर बाहर हो रहा था और अब मुझे लगा कि शायद वो झड़ने वाली है इसलिए मैंने धक्के और तेज कर दिए ताकि उसे और भी चुदाई के मज़े मिले और फिर उसका शरीर अकड़ने लगा और मेरी बहन मेरे लंड से चुदाई करवाती हुई झड़ गई.

अब मैंने अपनी स्पीड को और भी बढ़ा दिया और चूत में बहुत गीलापन होने की वजह से फच फच की आवाजें आने लगी और अब मुझे भी लगने लगा कि शायद अब में भी झड़ने वाला हूँ तो मैंने अपने धक्के और भी तेज कर दिए और 15-20 धक्कों के बाद में और दीपा एक साथ झड़ गये और थोड़ी देर तक हम दोनों एक साथ लेटे रहे और एक दूसरे को देखकर मुस्कुराते रहे. मैंने ध्यान से देखा कि दीपा के बूब्स एकदम लाल हो चुके थे और उस पर मेरे हाथों के निशान भी साफ साफ नज़र आ रहे थे.

फिर हम ऐसे ही नंगे फिर से एक बार जोश में आ गये और एक दूसरे से सांप की तरह लिपट गये. मेरा लंड एक बार फिर से उसके पैरों के बीच दस्तक देने लगा और मेरी बहन मुस्कुरा रही थी और मेरा लंड पकड़कर एक बार फिर से हिलाने लगी और कुछ देर के बाद मेरे लंड को मुहं में लेकर चूसने लगी और जब मैंने उसे लेटने के लिए कहा तो उसने कहा कि नीचे के लिए आज इतना ही बहुत है और बाकी बाद में. फिर उसने अपने गुलाबी होंठ मेरे लंड पर जकड़ दिए और चूसने लगी.

में उसके बालों को पकड़कर पीछे करके उसको देखने लगा, वो बड़े मज़े से चूस रही थी और कभी कभी एक हाथ से अपने बूब्स को भी बॉल की तरह दबाती. दोस्तों उस रात हम दोनों बिना कपड़ो के ही रहे और सारी रात सोए नहीं और जब हमारे घरवालों का आने का टाईम हुआ तो हम एक बार और चुदाई करके सब कुछ साफ करके सो गए. दोस्तों आज भी वो एक होस्टल में रहकर नर्सिंग की ट्रेनिंग कर रही है में जब भी वहां पर जाता हूँ तो एक पूरे दिन और रात हम होटल में एक दूसरे के साथ रहते है. मुझे आज भी उसकी चूत बहुत रसीली लगती है और उसे देखते ही मेरा दिल करता है कि उसे लगातार चाटता ही रहूँ.


Share on :

Online porn video at mobile phone


desi sex story friend ki mousihot sex khani bur me tach krteneta ki biwi sex story hindiBur khul gayi nunni se storyकपड़े उतारते हूई एंड तक सेक्सी सुहागरात मूवीAntervasna hindi khani rubi didi ko boss or mane chodaWww.antrwasna.Bidhwaसेक्स कामुकता हिंदी स्टोरी सिस्टर एंड वाइफआजकी रात चुत चटाई सेकषी कहानीamir aurat ki chudai majdoor se mausi ne dudh pilaya mujhe xxx Hindi storyबङे बम के सेवस और विङिओमाँ ने मेरा लंड चूस और गांड मार बाईwww pyase pdosan hindi vedo xxx storeebhatiji bahut chudvati hindi kahaniBhavi or ushki biti ko ak sht chodni ki srx kahni.comAunty ki gulabi jibh chusne laga chodte yum storiesaunty ko thapped mar kar chodaशादी शुदा डाइवोर्स दीदी की गांड मारीविदेशी Xxx एसा विडियो कि डालने पर बलड आजाये एसा विडीयोWww.antarvasna sex dost ki chudkkad khala ki chudai. Comsarabiyo ke rape sex storyअंटी के चुचु मे से दुध नीकाला xxx www bf hdबहन की बस सफ़र me सिल मैने तोदी चुद चुदते सामुहिक कथागलती से मुझे चुदाई कर दी मोटे लंड से हिन्दी कहानीयाँपापा से चोदवाईbachpan me papa ka kala landAntervasana.pati.patni.aur.sautan.sexनंगी चूतें बिहार 20सालbadi.maa.kee.chut.me.sap.jase.do.mote.lund.kee.story suduce sexy desi khani malishbahen se sadhi or suhagratAntvashan Bibi grup storemaa oll uncleki sex kahani antarvasnachoti bahn ki chudayivideoantervasna goaa sex storysvaishali didi ki jamkar chusai hindiनैनी ताल मे दादी सेकसी कहानीNasa me bhai ne jam ke choda kahani bhavi samajh keMaa ko chodte waqt mangalsutra latak rha tha chudai story mujhe mere dosto ne nashe ki halat me choda jabardasti pArty m hindi sexxy storysBhan.ne.bhai.ko.gandi.gali.de.ke.chodwai.boor.me.mal.girwai.hindi.khani.comristo me chudai story photoट्रेन में कैसे बेटी को लड़को से बचाया ये बताते हुए माँ की भी चुदाई कर दीdewar ko pata karchudai storiesमेरी rape की अनोखी कहानीdevrani jethani ki gand chudaiHindi garlfrend ne apni bhen ki sil tudwaye sexi khanyababbo dabana vala xxx vedeoचाचा ने घर मे गाँड मारी मेरीfiree chut me land atk gayahindi khaniyabhabi ki javani ke darsan night ke andar se chudai v antarvasnaAntarvasnafucking imageAntarvasna sote time peticote lund dikhacousin bhabhi ke sath Daaru pike group chudai antarwasnaKhede gaw sex anti.comसेक्स स्टोरी हिंदी मॉम दीदी पापा कारkarj k badle gundo ne ki biwi ki chudaiअफसर ने मेरी बुर चोदा मुझेभोर मे पेलाchachaji or meri mmi ki garm chudai ki antrwasnaGair mard se chudai ki kahaniyabadi bahan ko dosto se chudvakar khus kar diya kahaniSex kahani चुदी balkani me dada sehaath se dabaye kahaniyanSage 2 bhai ko doodh piliya hindi sx storiexx com Hindi wife dusre Mard se chudai 25 minute Takपतिनी बनने से पहले चूत मारी चूचे मसकेjadhar jasti saxi xxx video chacheri bahan ko tin din rat ji bhar ke choda Hindi sex kahanibhai bahan aur uski friend ke sath sexy stories hindi gowa kaअमिर लड़की कौ चौदालडं.मुतते.झडbhaiy ne jamkar choda xxx shatty katham naa dhood pee hee lya storyma ne kutte kutia ki chudai dikhakr mujhse chut chudaibhai ne behan ko slave banakar chudai gandi storiessisir ki bhabi chudaiantar vasna mom says mar jaungihospital main scorty hard se chudwaya hindi sex storiesवर्जिन बहन की छूट का भोसड़ा बनाया हिंदी सेक्स स्टोरीDidi ko chudte dekha muslim dost se sex kahaniCHODAI KIYA BIDHWA KO KAHANISadisuda didi ki pentiy ki khusboo secy khaniyaxxx video tau ki ladki ki jabrjasti chut mar li indiaसेक्सी हास्य कहानी और छोड़ोआ आ आई मत करो फट जाएगी मेरी madarchodघी लगा के चोदा अन्तर्वासनाsahi pallavi ki mast sexyi cudaiमॉम को चुदते देखा छुप के बॉस से पैसे के लिए xxx स्टोरीPahari sexy video khacha khachi cudaaai hindi khaniya kaamsutrakamwali ko peshab krvaya bistr m